शनिवार, जुलाई 27, 2013

मेरी बात ..


dekha jae to ye meri vo bate hn / jo mae khud hi khud se kiya karti hu !
chahti hu sb jan le / mere jane bina / mere btae bina !
chuki mae story writer hu / bhid me dam ghut jata h / tb aati hu idhar !
kabhi bhule se ....... kabhi janbhujhakar !
----------------------------------------------------Dr. pratibha sowaty





         देखा जाए तो ब्लॉग किसी भी writer के लिए उसके पूजास्थल से कम नहीं ! जहाँ वह ख़ुदको बड़ी बेबाकी से ज़ाहिर करता है ! बिना किसी व्यवधान के ! लेखनी लेकर ख़ुद की अनुभूतियों के मुज़ाहिरे के लिए और भी जगहें हैं ---net से जुड़ते ही ! ज़ुनुनन फेसबुक पर हर शख्स लेखक है :)
____________ वहां मुझ जैसों को बड़ा खतरा है , जो सीधे type करते हैं ! कहीं और संजो के नहीं रखते ! रात में खयाल आया लिखा और सुबह पाया की किसी और की wall पर उसके नाम और वाह -वाह के साथ चस्पा है !
वहां copy right act काम नहीं करता ! चोरने वाले कई बार बहुत मासूम होते हैं , उन्हें मालूम ही नही होता कि दूसरे की रचना के साथ खुदका नाम लिखना ग़लत है :)
____________ तब मैंने हाइकू के बजाय हाईगा लिखना शुरू किये ! उसके कॉपी पेस्ट होने की सम्भावना भी नहीं रहती और जिन users के mob. पर हिंदी font दिखाई नहीं देते ये चित्र उन्हें हिंदी दिखा देते हैं !
____________ pratibha k haiku नाम से fb पर जो page बना / इसी तर्ज़ पर :) जिसपर आज 5000 से ज्यादा fan हैं :)  यानि _________ कम हींग -फिटकरी में / रंग चोखा :)




Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

-----------Google+ Followers / mere sathi -----------