सोमवार, नवंबर 28, 2016

कह रही है फ़ेसबुक ....

 नित नई घोषणाएं !!!
रोज़  नए संशोधन !!!
______________________ फ़िर भी अपनी मज़बूरी को देशहित का नाम देकर आम जनता ने साथ दिया . लेकिन परिणाम  वही ढाक के तीन पात ! यदि ये हो रहा है तो इसमें आश्चर्य क्या है ?
_____________________ जनता जिस आस में ..... या कहें लोभ या लालच में अपना नेता चुनती है हर बार उसे मिलता है फ़रेब ! देखिये fb की एक झलक ....


शर्म करो बे काले धन मे भी आधा चाहिये ।थु
मोदी सरकार की कोई योजना भले ही सफल नही हुई लेकिन standup इंडिया काफी सफल रही ॥ देखिए न 20 दिनो से पूरा भारत लाइन मे खड़ा है...सुबह 4 बजे से लेकर रात 8 बजे तक...हर दिन...
.
.
कालेधन पर ५० प्रतिशत जुर्माना बहुत ज्यादा है, जब २० प्रतिशत में बैंकों के पिछले दरवाजे से आसानी से नोट बदली हो रहे हैं, तब कोई किस लिये मुख्य दरवाजे पर आयेगा, अगर जुर्माना २५ प्रतिशत रखते तो बैंकों में भ्रष्टाचार खत्म होता साथ में पैसे भी बहुत आते और जो जनता का पैसा कालेकुबेरों को जा रहा है वो जनता को मिलता, अफरा तफरी भी कम होती !!

स्कुल के दिनो मे गणतन्त्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस पर नाटक तो हम भी करते थे लेकिन बिजेपी वालो ने तो हद करदी रोज नया नाटक

_______ अगर भाजपा के नेताओं को पता है कि कांग्रेस के शीर्ष परिवार के पास12 लाख करोड़ का कालाधन है तो उन्हें जेल में डालने के बजाय पूरे देश की ईमानदार जनता को लाइन में क्यों लगवाया?
Cashless ka to pataa nahi, but brainless chalu he..

__________Abhishek Rai सर इससे बड़ा पोथा लिखा जा सकता है..आप के सभी तर्कों को एक एक करके कुतरते हुए...पर विडम्बना यही है कि आप हमें भक्त कह देंगे...खैर आपके किसी को सपोर्ट करने पर आप भक्त न कहलाएं और हम कहलाएं ये वाला तर्क बड़ा ही अद्भुत और आलौकिक है...रही बात आपके पोस्ट की तो आपके बातों में ही चार से ज्यादा जगहों पर विरोधाभास है..खैर हमने तो एक जादूगर को राजा बना दिया है...न जाने कितनों को ठग रहा है और आगे ठगता रहेगा...हम ही दोषी हैं जो ऐसे ठग को पहचान न पाए...सारी सामाजिक विसंगतिया इसी ढाई साल में ही तो जीवित हुई हैं..इससे ठीक पहले हम रामराज्य भोग कर आए हैं..भगवान ही बचाए इस ठग से।




Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

-----------Google+ Followers / mere sathi -----------