मंगलवार, मई 06, 2014

gm / :)

                हट गए आसमां से ,
रात के काले  साए !
              पूरब में , क्षितिज पर ,
आके सूरज , मुस्काए !
.
.
.
---------------- डॉ. प्रतिभा स्वाती
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

-----------Google+ Followers / mere sathi -----------