शनिवार, अप्रैल 19, 2014

समस्या ....

          
मजबूरियों   की / तकलियों  से ,
सूत  अब ..... कतता   नहीं  है ! 
कर  दिया   इनकार  शुक  ने ,
राम  ..... वह  रटता  नहीँ  है !
-------------------------------------- डॉ . प्रतिभा स्वाति 
 
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

-----------Google+ Followers / mere sathi -----------