मंगलवार, अप्रैल 15, 2014

कह दिया .....



*************************
दम्भ  के  सारे ..... तराजू !
सिक्के अहम के.. खोटे हैं !

कैसे कह दिया फलक ने ?
तारे  कितने ......छोटे  हैं !

---------------------------------- डॉ.प्रतिभा स्वाति
****************************



Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

-----------Google+ Followers / mere sathi -----------