सोमवार, मार्च 09, 2015

ख्वाहिशें



____________________  उद्गार / बड़े प्रबल होते हैं ! ज़ाहिरात का हक़ उन्हें हासिल है / बस शक्ल हम तय करते हैं :)
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

-----------Google+ Followers / mere sathi -----------