मंगलवार, अगस्त 26, 2014

चाँद




      हाइकू / तांका / सेदोका / चोका या फिर सॉनेट ही क्यूँ न लिखूं --------- सब काव्य ही के चेहरे हैं :)
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

-----------Google+ Followers / mere sathi -----------