मंगलवार, जनवरी 07, 2014

savi / my frnd



                       कुछ / मुझमें भी कमियाँ हैं !

                                      कुछ तो मेरी / आदत है !

                       शब्दों के इस महा-यज्ञ में ,

                शामिल / मेरी आयत है ! 

------------------------------------ब्लॉग पर दी कविता का ' मध्यांश 
_________________ इस ब्लॉग  

पर " अन्य विषय " के अंतर्गत मैंने


 तमाम स्मर्तियाँ संजोई हैं , ये उन्हीं में से एक है :)




_______ कई बार तकनीकी व्यवधान मुझे लिखने नहीं देते / जैसे आज !











Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

-----------Google+ Followers / mere sathi -----------