बुधवार, दिसंबर 11, 2013

me & my animated haiga

 me & my scanig :)









































                                  एक  पीढ़ी  जो  'हाइकू '  गढ़ती  रही ! क़िताब / पत्रिका और अख़बार के पन्नो पर ही जन्मी , फलीफूली और समाप्त हो गई ! मै रविन्द्रनाथ  ठाकुर वाली जमात की बात कर रही हूँ ! १९१९ में वही तो अपनी जापान यात्रा k  बाद / बंगला में हाइकू की सौगात लाए थे भारत के लिये !
                                   और मुझे ख़ुशी हुई जब मैने ' एनिमेटेड हाईगा ' बनाया और indian haiku hystory में
' आधुनिक हाईगा ' k नाम से इसे स्थापित किया !
                       
                                   ' आस्था ' ने मुझे पुरस्क्रत किया / एक गैर साहित्यिक ,सामजिक संस्था / आभार !
---------------------- डॉ . प्रतिभा स्वाति

                              
Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

-----------Google+ Followers / mere sathi -----------